Search This Blog

There was an error in this gadget

PostHeaderIcon तुम्हारे प्यार में हमने बहूत चोट खाए |

तुम्हारे प्यार में हमने बहूत चोट खाए ,
जिसका हिसाब न होसके उतने दर्द पाए ,
फिर भी तेरे प्यार की कसम खाके कहता हूँ ,
हमारे लब पे तुम्हारे लिए सिर्फ़ प्यार आए ...

तुम्हारे ग़ज़ल दिल के बहुत ही पास हैं
हर दिल कह रहा है ये मेरा अहसास है
दो लफ्ज़ मैं कह दूँ इस गीत की कहानी
प्यार ही ज़मीन है प्यार हीं आकाश है

PostHeaderIcon बड़ी फेमिली प्रोब्लम

दो व्यक्ति एक बार में बैठे थे ......
एक ने कहा ...." यार.... बहुत फेमिली प्रॉब्लम है "..
दुसरा व्यक्ति : तु पहले मेरी सुन........ मैंने एक विधवा महिला से शादी की जिसके एक लड़की थी ... कुछ दिनों बाद पता चला कि मेरे पिताजी को उस विधवा महिला कि पुत्री से प्यार है ....और उन्होने इस तरह मेरी ही लड़की से शादी कर ली ... अब मेरे पिताजी मेरे दामाद बन गए और मेरी बेटी मेरी माँ बन गयी....और मेरी ही पत्नी मेरी मेरी नानी हो गयी !! ज्यादा प्रॉब्लम तब हुई जब जब मेरे लड़का हुआ ..अब मेरा लड़का मेरी माँ का भाई हो गया तो इस तरह मेरा मामा हो गया ....... परिस्थिति तो तब ख़राब हुई जब मेरे पिताजी को लड़का हुआ ....मेरे पिताजी का लड़का यानी मेरा भाई मेरा ही नवासा हो गया और इस तरह मैं स्वयम का ही दादा हो गया और स्वयम का ही पोता बन गया और तू कहता है कि तुज्हे फेमिली प्रॉब्लम है ", समझ में आया क्या ? मुझे तो नही आया !

PostHeaderIcon ये प्यार नही खील्वाड है

अगर हम बात प्यार की करते हीं तो एक बात बताना जरुरी हो गया है की आज के ज़माने प्यार शब्द खत्म हो के GF और BF पे आ गयी है.ये दूरियां मीताने के बजाये स्टेटस दीखाने का साधन हो गया है.अगर कोई लडकी को एक सुंदर धनी लड़का BF है तो वो लड़की अपने आप को एंजेलीना समझेगी और अगर कोई लड़के को एक खूबसूरत और और स्टाइलिश लडकी gf है तो वो अपने आप को टॉम क्रूज सम्झेगा ये हीन प्यार है आज का.केवल तन और धन से मन से प्यार गायब हो गया है.
ये प्यार प्यार कहने वाले ऐसे प्यार कर के दिखा देंगे क्या की मई भी कह दूँ हाँ अभी भी प्यार करने वाले जींदा हैं

PostHeaderIcon बहुत बदला है स्त्रियों का नजरिया

प्यार हमें जीवन जीने का एक मकसद देता है। एक स्त्री के जीवन में भी प्यार बहुत मायने रखता है। प्यार में इतनी ताकत होती है कि वह हिंसक प्रवृत्ति वाले व्यक्ति को भी समझदार इंसान बना देता है। आज के दौर में प्यार के प्रति स्त्रियों का नजरिया वाकई बदल गया है। यह बदलाव जरूरी है ताकि किसी स्त्री को प्यार के नाम पर जीवन भर विश्वासघात सहना न पडे। आज स्त्री दूसरों को मौका नहीं देती कि वे उसके प्यार का अफसाना बनाएं। जो स्त्री पहले अपने प्यार को मन में दबाए और छिपाए अपना पूरा जीवन गुजार देती थी, वही आज पूरी तरह बदल गई है। आज काफी हद तक स्त्री अपने प्रेम का इजहार आसानी से कर लेती है। मैं भी किसी से प्रेम करती हूं। मैं अपने साथी से कोई विशेष अपेक्षाएं नहीं रखती लेकिन मेरे लिए ईमानदार और अच्छे चरित्र वाला पुरुष होना बहुत जरूरी है। इसलिए मैं उससे यही अपेक्षा रखती हूं कि वह जीवन भर मेरे साथ अपने रिश्ते के प्रति ईमानदार रहे। मुझे धैर्यवान, आकर्षक विनम्र पुरुष पसंद हैं और मैं खुशनसीब हूं कि मेरे प्रेमी में वो सारी खूबियां हैं।

जब आप किसी से प्रेम करते हैं तो उसके बारे में इतना तो जानते ही हैं कि वह स्वभाव से कैसा, देखने में कैसा और कितना केयरिंग है, स्त्रियों के प्रति उसका क्या नजरिया है और वह दूसरों का कितना सम्मान करता है। फिर कोई व्यक्ति जो इस दुनिया में आया है वह परफेक्ट नहीं होता है। अगर होता है तो यह समझिए कि वह इंसान नहीं भगवान है। इसलिए हर किसी में कुछ न कुछ कमियां तो होती ही हैं। मुझमें भी हैं। जब मेरे पार्टनर ने मुझे मेरी बुराइयों-अच्छाइयों के साथ स्वीकारा है तो मैं भी उसकी कमियों को नजरअंदाज करती हूं। ऐसा नहीं है कि एडजेस्टमेंट सिर्फ स्त्री ही करती है, पुरुष भी करता है। यह एक स्त्री की खूबी होगी कि वह अपने जीवनसाथी की बुराइयों को अच्छाइयों में बदल दे। एक स्त्री के लिए आत्मसम्मान उसके जीवन भर की पूंजी है। अगर वही खत्म हो गई तो उसके जीवन में बचेगा क्या? लेकिन यहां मैं यह भी मानती हूं कि मुझसे सच्चा प्यार करने वाला व्यक्ति कभी भी मेरे आत्मसम्मान को ठेस नहीं पहुंचा सकता। प्यार में कभी दिल मेरा भी दिल टूटा है, लेकिन मैंने कभी ऐसा नहीं सोचा कि अब उसके बिना मेरा जीवन बेकार हो गया। एक समझदार स्त्री संबंध खत्म होने के बाद खुद को संभाल सकती है। वह कभी यह नहीं सोचेगी कि उसका जीवन ही खत्म हो गया। जब दूसरा दिल तोडकर चला गया तो उसकी याद में वह अपनी जिंदगी़ क्यों तबाह करे? बल्कि उससे सबक लेकर नए सिरे से जीवन शुरू करना चाहिए। यही तो जीवन के अनुभव हैं। जब ठेस लगती है तभी तो व्यक्ति आगे संभल कर कदम रखता है। प्यार नहीं तो क्या हुआ और रिश्ते भी तो होते हैं। इंसान को हर हाल में खुश रहना चाहिए।

PostHeaderIcon intezaar karna padega aapka

Is kadar intezaar karna padega aapka,
pata na tha
Is kadar bekarar hona padega,
pata na tha
Is kadar yaad aayegi aapki,
pata na tha
kyon guzarata hai sara din aapki yaad mey
pata hai aapko ?
kyon bekrar ho jaata hun mai bin tumhare
pata hai aapko ?
Kyon yaad aati hai aapki har pal
pata hai aapko ?
Ye dooriya ab sahi jaati nahi
chale aao, chale aao
chale aao, chale aao..................

Latest Seo Services By Seo Support